देश में कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट की दस्तक

0
44
Ominous red COVID-19 coronavirus cells under microscope magnification intertwined with dark blue DNA cell structure

देश में 24 घंटे में कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट (Omicron Variant) के दो केस की पुष्टि हुई है. दोनों ही केस कर्नाटक में मिले हैं. 66 साल और 46 साल के दो लोगों में ओमिक्रोन का संक्रमण पाया गया है और इसके हल्के लक्ष्ण हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी जानकारी दी.

लव अग्रवाल ने कहा कि 29 देशो में 373 ओमिक्रोन के केस दुनिया में रिपोर्ट हुए हैं. भारत इस पर नजर रखे हुए है. लव अग्रवाल ने कहा कि ये ओमिक्रोन वैरिएंट बीटा और डेल्टा वैरिएंट से ज्यादा तेजी से फैलता है. डब्लूएचओ के मुताबिक इस वैरिएंट में 45 से 52 म्यूटेशन देखे गए हैं. रिपोर्ट में जो अब तक आई है उसमें इसे माइल्ड पाया गया है. ओमिक्रोन के खतरों के बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि वैक्सीन पर हमें ध्यान देना है, उसी तरह मास्क और बाकी चीज़ें जैसे हाथ धोना जारी रखना है.

लव अग्रवाल ने कहा कि जो भी यात्री एट रिस्क देशों से आ रहे हैं, उनका आरटीपीसीआर टेस्ट किया जा रहा है. अगर कोरोना की पुष्टि होती है तो उन्हें गाइडलाइन के मुताबिक, ट्रीट किया जाता है. अगर रिपोर्ट निगेटिव आती है तो उन्हें सात दिनों के लिए क्वारंटीन किया जाता है.

आईसीएमआर के महानिदेशक डॉ बलराम भार्गव ने कहा कि ओमिक्रोन वैरिएंट (Omicron Variant) आए हैं लेकिन पैनिक करने की जरूरत नहीं है. कोविड नियमों का पालन करना जरूरी है. लोगों को वैक्सीन जरूर लेनी चाहिए. वहीं नीति आयोग के सदस्य डॉ वी के पॉल ने कहा कि 125 करोड़ वैक्सीन डोज लग चुकी है और 89 फिसदी को पहली डोज लग चुकी है. हर घर दस्तक कार्यक्रम की वजह से वैक्सीन में बढ़ोतरी हुई है.

LEAVE A REPLY